सत्य वचन | 60+ Satya Vachan In Hindi (2022)

Best Satya Vachan | सत्य वचन हिंदी में

Satya Vachan #1

इंसान खुद की नजर में सही होना चाहिए दुनिया तो भगवान से भी दुखी है।


Satya Vachan #2
जितना बड़ा संघर्ष होगा, जीत उतनी ही शानदार होगी। 


Satya Vachan


Satya Vachan #3
धोखे और फरेब को इंसान माफ जरूर कर सकता है, लेकिन भूल नहीं सकता। 


Satya Vachan #4
ताश का जोकर और अपनों की ठोकर, अक्सर बाजी घुमा देते है।  

Satya Vachan


Satya Vachan


Satya Vachan #5
ज़िन्दगी की सच्चाई यही है कि ठोकर लगने पर ही इंसान चलना सीखता है। 


Satya Vachan #6
सच बोलने के लिए कोई तैयारी नही करनी पड़ती, सच हमेशा दिल से निकलता है। 


Satya Vachan


Satya Vachan #7
असम्भव एवं सम्भव के बीच का अन्तर  व्यक्ति की इच्छाशक्ति में निहित होता है। 


Satya Vachan #8
पैरों से कांटा निकल जाए तो चलने में मज़ा आता है, और मन से अहंकार निकल जाए तो जीवन जिने में मज़ा आता है। 


Satya Vachan


Satya Vachan #9
शीशा और रिश्ता दोनों नाजुक होते हैं, पर दोनों में अंतर यह है कि, शीशा गलती से टूट जाता है और रिश्ता गलतफहमी से। 


Satya Vachan #10
जब विश्वास जुड़ता है तो पराये भी अपने हो जाते है और जब विश्वास टूटता है तब अपने भी पराये हो जाते है। 


Satya Vachan

Satya Vachan #11
जो ज्ञानी होता है उसे समझाया जा सकता है, जो अज्ञानी होता है उसे भी समझाया जा सकता है, लेकिन जो अभिमानी होता है उसे कोई नही समझा सकता, उसे केवल वक्त ही समझा सकता है।


Satya Vachan #12
झूठ किसी को भी बर्दाश्त नहीं होता लेकिन बोलते सब हैं। 


Satya Vachan in Hindi 

Satya Vachan #13
कुछ रिश्ते मुनाफा नहीं देते मगर जिंदगी को अमीर बना देते हैं। 


Satya Vachan #14
खुद पर काबु रखना एक परिपक्व इंसान की निशानी है, वक्त से पहले खुद पर काबु खो देना अपरिपक्वता की पहचान है।


Satya Vachan


Satya Vachan #15
अहंकार न पालिये जनाब, वक़्त के समंदर में कई सिकंदर डूब गए।


Satya Vachan #16
खूबसूरत चेहरा भी बूढ़ा हो जाता है, ताकतवर जिस्म एक दिन ढल जाता है पद और ओहदा भी एक दिन समाप्त हो जाते है..लेकिन एक अच्छा इंसान हमेशा अच्छा इंसान ही रहता है 

सत्य वचन


सत्य वचन


Satya Vachan #17
हर चीज में फर्क करना अच्छी बात नहीं, कुछ चीजें अलग होकर ज्यादा खूबसूरत लगती है।


Satya Vachan #18
पानी भी क्या अजीब चीज है, नजर उनकी आँखों में आता है, जिनके खेत सूखे है।


Satya Vachan #19
बड़ी चालाक होती है ये ज़िदगी हमारी, रोज नया कल देकर उम्र छिनती रहती है।  


Satya Vachan #20
मत झुको किसे के सामने इतना भी की वो आपको तोड़ दे और मत आकड़ो इतना भी की खुद ही टूट जाओ। 


सत्य वचन


Satya Vachan #21
संभव की सीमा जानने का एक ही तरीका है, असंभव से भी आगे निकल जाना। 


Satya Vachan #22
जब तक आप खुद पर विश्वास नहीं करते तब तक आप भागवान पर विश्वास नहीं कर सकते। 


Satya Vachan #23
बिना मतलब के अच्छे बनो अपने मतलब के लिये तो सब अच्छे बनते है।


Satya Vachan #24
अजीब तरह के लोग है इस दुनिया में, अगरबत्ती भगवान के लिए खरीदते है और खुशबू अपने पसंद की तय करते हैं।  


सत्य वचन


Satya Vachan #25
दो बातों की गिनती करना छोड़ दे, खुद का दुःख और दूसरों का सुख, जिंदगी आसान हो जाएगी।


Satya Vachan #26
मनुष्य अपने विश्वास से निर्मित होता हे, जैसा वो विश्वास करता हे वैसा वो बन जाता हे।


Satya Vachan #27
केवल वही व्यक्ति गलती नहीं करता, जो कभी कुछ नहीं करता।


Satya Vachan #28
भरोसा जितना कीमती होता हैं, धोखा उतना ही महंगा हो जाता हैं।  


सत्य वचन


Satya Vachan #29
जिंदगी का हर पल खूबसूरत है बस ये आपकी सोच पर निर्भर करता है। 


Satya Vachan #30
असफलताएं आपको नहीं रोकती मुश्किलें भी आपको नहीं रोकती आप खुद अपने आप को रोकते हो। 


Satya Vachan #31
वो बुंलदी किस काम की जनाब जहां इंसान चढ़ें पर इंसानियत उतर जाए। 


Satya Vachan #32
समय अच्छा हो तो आपकी गलती भी मजाक लगती है, समय खराब हो तो मजाक भी गलती बन जाती है।

Satya Vachan In Hindi


Satya Vachan In Hindi


Satya Vachan #33
किसी को धोखा देना एक कर्ज़ है जो आपको किसी और के हाथों एक दिन जरूर मिलेगा। 


Satya Vachan #34
ज़िन्दगी में खामोशियाँ ही बेहतर है, अक्सर शब्दों से लोग रूठते बहुत है। 


Satya Vachan #35
बोलना सीखिए वरना ज़िन्दगी भर सुनना पड़ेगा। 


Satya Vachan #36
पानी मे गिरने से जान नहीं जाती जान तब जाती है जब तैरना नहीं आता। 


Satya Vachan In Hindi


Satya Vachan #37
नाखून बढ़ने पर नाखून ही काटे जातें है उंगलियां नहीं इसी तरह रिश्ते में दरार आये तो दरार को मिटाइये,रिश्ते को नहीं। 


Satya Vachan #38
पैसे खुशियां नहीं खरीद सकते पर वह आपका पेट जरूर भर सकते हैं।


Satya Vachan #39
जो व्यक्ति हर वक्त दुख का रोना रोता है, उसके द्वार पर खड़ा सुख बाहर से ही लौट जाता है।


Satya Vachan #40
उसकी तो फितरत थी सबसे मोहब्बत करने की हम तो बेवजह खुद को खुशनसीब समझने लगे।


katu Satya Vachan


Satya Vachan #41
 कदम, कसम और कलम हमेशा सोच समजकर ही उठानी चाहिए।


Satya Vachan #42
जो तुमसे तंग आ जाए उसे छोड़ दो, क्योंकि बोझ बन जाने से याद बन जाना बेहतर है। 


Satya Vachan #43
सोचा नहीं कि वक्त ऐसा भी आएगा, फूर्सत सबको होगी पर मिल कोई नहीं पाएगा। 


Satya Vachan #44
अगर भविष्य के बारे में सब कुछ पता चल जायेगा तो ज़िन्दगी रोमांचक कभी नहीं रहेगी। 



Anmol Vachan In Hindi 


Anmol Vachan In Hindi


Satya Vachan #45
ज़िंदगी मीठी बनाने के लिए अक्सर सही वक्त पर कड़वी घूंट पीनी जरूरी होती है। 


Satya Vachan #46
जिस दिन ज़रूरत और इच्छा में फर्क समझ में आ जाये तो समझ जाना बड़े हो गए हो तुम। 


Satya Vachan #47
सफलता की खुशियां मनाना ठीक है लेकिन असफलताओं से सबक सीखना अधिक महत्वपूर्ण है। 


Satya Vachan #48
एक सच्चे रिश्ते को हमेशा समय देना चाहिए क्योकि, क्या पता कल तुम्हारे पास समय हो और रिश्ते ना हो।


Anmol Vachan In Hindi


Satya Vachan #49
 बेशक किसी को माफ बार बार करो, लेकिन उस पर भरोसा एक बार ही करो। 


Satya Vachan #50
आज का जमाना ऐसा हे दोस्तों यहाँ चालक लोगो का बोल-बाला है और शरीफों का मुँह कला। 


Satya Vachan #51
किसी को पुरखो की जमीन बेचकर भी चैन नहीं और कोई गुब्बारे बेचकर ही सो गया सुकून से।


Satya Vachan #52
पैसा और प्यार ये दोनों जब तक किसी और से मांगा जा रहा है तब तक दुख रहेगा। 

अनमोल वचन


अनमोल वचन


Satya Vachan #53
तक़दीर बदल जाती हे, जब जिंदगी का कोई मकसद हो वरना उम्र काट जाती हे, तक़दीर को इल्जाम देते देते।


Satya Vachan #54
जो दो पल में बदल जाते हैं, वह विचार नहीं वहम कहलाते हैं।


Satya Vachan #55
जो कुछ भी तुमको कमजोर बनाता है शारीरिक, बौद्धिक या मानसिक उसे जहर की तरह त्याग दो।


Satya Vachan #56
कुछ कर्म ऐसे होते हैं जिनका प्रायश्चित नहीं होता उसे कुदरत के नियमानुसार भुगतना पड़ता है।


अनमोल वचन


Satya Vachan #57
कभी फुरसत में अपनी कमियों पर गौर करना दूसरों का आईना बनने की ख्वाहिश मिट जायेगी। 


Satya Vachan #58
संभव की सीमा जानने का एक ही तरीका है, असंभव से भी आगे निकल जाना। 


Satya Vachan #59
आग में आग नहीं डालनी चाहिए, अर्थात क्रोधी व्यक्ति को अधिक क्रोध नहीं दिलाना चाहिए। 


Satya Vachan #60
गुस्सा एक ऐसा हथियार है जो आप का होते भी आप पर वार करता है।


Satya Vachan #61
समय का जितना सही उपयोग करोगे मंजिल से उतना ही जल्दी मिलोगे।


Satya Vachan #62
असम्भव एवं सम्भव के बीच का अन्तर व्यक्ति की इच्छा शक्ति में निहित होता है।  


इसे भी पढ़े :-


Post a Comment

0 Comments